Friday, April 24, 2020

SSD VS HDD Speed : SSD और HDD ड्राइव में क्या अन्तर है और ये कैसे काम करते है इनकी स्पीड कितनी होती है!

SSD VS HDD Speed : SSD  और HDD  ड्राइव में क्या अन्तर है  और ये कैसे  काम करते है  इनकी स्पीड कितनी होती है!

SSD VS HDD Speed
SSD VS HDD 

SSD VS HDD Speed  (SSD  और HDD  ड्राइव में क्या अन्तर है और ये कैसे  काम करते है  इनकी स्पीड कितनी होती है!)

क्या आप लोगों को पता है कि एचडीडी (HDD) वॉइस एसजीडी में से कौन सी कौन सी अच्छी है और आपको अपने काम के मुताबिक कौन सी हार्ड डिक्स खरीदनी होगी कई लोगों को तो यह पता ही नहीं होता की (SSD) और एचडीडी(HDD) में क्या अंतर होता है जिसके कारण कोई भी दुकानदार उन्हें अपने मन मुताबिक ड्राइव  बेच देता है अगर आप भी इन दोनों की पूरी जानकारी चाहते हैं तो हमारे इस पोस्ट को पूरा पढ़ें जिसमें हमने एसएसडी (SSD)और एचडीडी (HDD) की पूरी जानकारी बारीकी से दी है

HDD hard drive कैसे काम करती है

चलो दोस्तों इसे हम आसान तरीके से समझते हैं आप लोगों ने ग्रामोफोन तो देखे ही होंगे जिसमें संगीत को एक आन या इनकी मदद से बजाया जाता था वह आम डेटाकोर रीड करने का काम करती थी जब उसे संगीत की प्लेट पर रखा जाता था और जब उसे ऊपर उस उस को रख दिया जाता था तो प्लेट घूमना चालू कर देती थी और संगीत बजने लगता था इसी प्रकार HDD hard drive भी काम करती है
हार्ड डिस्क में एक प्लेट लगी होती है जो आकार में गोल होती है और इसी के ऊपर एक हैड लगा होता है जो डाटा कोरी डाइट करने का काम करता है जैसा की आप लोगों को पता है कि कंप्यूटर हमेशा बायनरी लैंग्वेज पर काम करता है जो आप इंस्ट्रक्शंस कंप्यूटर को देते हो वह उसे बाइनरी कोड में कन्वर्ट कर देता है इसी प्रकार हमारा डाटा जैसे फाइल्स फोटो वीडियो आदि भी बायनरी में बदल दी जाती है और एचडीडी पर डाटा को बायनरी लैंग्वेज (0 - 1) फॉर्म में सेव कर दिया जाता है

HDD hard disk की स्पीड speed कितनी होती है

SSD VS HDD Speed
SSD VS HDD Part

इसकी स्पीड को हमेशा आरपीएम RPM (Revolution per Minute) मैं मापा जाता है इसका यह मतलब हुआ कि प्लेटर ने 1 मिनट में कितने चक्कर लगाएं ज्यादातर HDD Heard disk 540 RPM से लेकर 7200RPM की होती है अगर आप चाहते हैं कि आपकी रीड राइट की स्पीड भी अच्छी हो तो आपको cache memory पर भी ध्यान देना होगा कैशियर मेमोरी cache memory वह मेमोरी होती है जहां डाटा कुछ समय के लिए ही से होता है जिससे आप Temporary मेमोरी भी कहते हैं HDD Hard disk की cache memory जितनी अच्छी होगी रीड राइट की स्पीड भी उतनी ही अच्छी होगी

आज मैं आप लोगों को एक  बताना चाहता हूं कि हार्ड डिक्स में पाटा PATAऔर साटा SATA हार्ड डिक्स के इंटरफ़ेस होते हैं जहां हम वायर को कनेक्ट करते हैं और इसी आधार पर हार्ड डिस्क को पाटा (PATA)और साटा (SATA) नाम में बांटा गया है आइए इन दोनों के विषय में जानते हैं
SSD VS HDD Speed
SATA HDD

  1. PATA ( Parellel Advenced Technology Attachedment)
  2. SATA (Serial Advenced Technology Attachedment)
 1. PATA : यह सबसे पुरानी Dard disk होती है आईबीएम IBM ने 1986 मैं लांच किया था इसमें PATA Interface होता है इस Hard disk की स्पीड speed 133 mb/s तक होती है इसमें पाटा PATA केबल होती है जो मोटी और एक पट्टे नुमा होती है
2. SATA : यह हार्ड डिस्क Hard disk वर्तमान में चल रही है जिसका यूज हम ज्यादा स्पेस के लिए करते हैं और सेकेंडरी स्टोरेज के लिए भी करते हैं इसमें SATA Interface होता है जिसकी डाटा ट्रांसफर (data transfer) speed 150mb/s से 600 mb/s तक होती है इसमें जो साटा केबल SATA Cable होती है वह काफी पतली होने के साथ-साथ लचीली भी होती है

  1. हार्ड डिस्क के भाग Part of HDD

SSD VS HDD Speed
HDD Part

1. Read/Write head

यह डाटा को read-write करने के काम में आता है यह एक चुंबक होता है जो हेड के ऊपर दाएं से बाएं कि सकता है और डेटा को सूचना को रिकॉर्ड करता है
2. Magnetic Platters
यह हार्ड डिक्स का एक महत्वपूर्ण भाग होता है सारा का सारा डाटा रिकॉर्ड होता है इस पर डाटा लेबल(label) के रूप में रिकॉर्ड होता है और डाटा हमेशा बाइनरी फॉर्म में ही (0 - 1) save होता है जैसा कि आपको पता है कि कंप्यूटर केवल बाइनरी फॉर्म को ही समझता है
3. Actualor arm
इस part को हम arm के नाम से भी जानते हैं क्योंकि यह एक हाथ की शेप(shape) में बना होता है इसी पार्ट की मदद से डाटा को रीड(red) एंड राइट(write) किया जाता 
4. Spindle
यह एक तरह का मोटर होता है जो की प्लेट के बीचो बीच होता है इसी की मदद से प्लेट घूमती है
5. Circuit board
यह प्लेटर से डाटा के शुरुआत को नियंत्रित करता है
6. Connector
सर्किट बोर्ड से read-write डेटा data को लेटर तक पहुंचाता है
7. Logic board
यह हार्ड डिक्स hard disk मैं input और output data को नियंत्रित करता है
8. HSA 
यह रीड (read)राइट (write)आर्म (arm)का पार्किंग एरिया होता है

SSD Drive का परिचय

SSD VS HDD Speed
SSD Drive

SSD Drive (solid SATA drive) कहते हैं यह भी हार्ड डिस्क की तरह ही डाटा को स्टोर करने के काम में आती है पर यह साइज में hard disk से छोटी होती है और इसकी स्पीड भी हार्ड डिक्स से ज्यादा होती है क्योंकि इसमें हार्ड डिस्क की तरह कोई फिजिकल (physical) part नहीं होते

SSD drive कैसे काम करती है

SSD VS HDD Speed
SSD DRIVE INTERFACE

आप सभी जानते हो कि आज हम सभी अपने काम को जल्द से जल्द खत्म करना चाहते हैं ऐसे में हम सभी SSD driveको अपने कंप्यूटर में लगाना ज्यादा पसंद करते हैं क्योंकि यह ड्राइव हार्ड इसकी तुलना में ज्यादा स्पीड देती है यह ड्राइवर राम की भांति ही सेमीकंडक्टर से बनी होती है लेकिन यह एक स्थाई स्टोरेज होती है जिसमें डेटा को स्थाई रूप में सेवsave किया जा सकता है आप जानते हैं कि हम पेन ड्राइव और मेमोरी कार्ड में जिस तरह से डाटा स्टोर करते हैं उसी तरह से एसएसटी(SSD)में भी हम डाटा को Store किया जाता है

SSD Drive के महत्वपूर्ण बिंदु


  1. SSD drive GB और TB दोनों ही स्पेस(space) में आती है
  2. SSD साइज में छोटी और वजन में एचडीडी(HDD) से काफी हल्की होती है
  3. SSD (mb/s) में डाटा को रीड एंड राइट करती है
  4. इसकी लाइफ एचडीडी (HDD)से लंबी होती है क्योंकि इसमें कोई भी मूविंग पाठ (moving part)नहीं होता
  5. SDD भिन्न प्रकार में आती है

SSD के प्रकार

  1. SATA SSD
  2. M.2 SSD
SATA SSD
SSD VS HDD Speed
SATA SSD

एसएसडी 4 टीबी तक की क्षमता के लिए 3 डी एनएंड प्रौद्योगिकी का उपयोग करता है, जिसमें बढ़ाया विश्वसनीयता है। SSD की पिछली पीढ़ियों की तुलना में 25% कम की एक सक्रिय शक्ति की विशेषता है, आप अपने लैपटॉप को रिचार्ज करने से पहले लंबे समय तक काम करने में सक्षम हैं, जबकि अनुक्रमिक पढ़ने की गति 560MB /s और अनुक्रमिक लेखन की गति 530MB /s तक देते हैं गति आप अपने सबसे अधिक कंप्यूटिंग अनुप्रयोगों के लिए चाहते हैं। एक टेराबाइट (टीबी) = एक ट्रिलियन बाइट्स। ऑपरेटिंग वातावरण के आधार पर कुल सुलभ क्षमता भिन्न होती है। | 500GB क्षमता बिंदु पर SSD की पिछली पीढ़ियों की तुलना में अनुक्रमिक रीडिंग के दौरान सक्रिय पावर ड्रॉ 25% तक कम है। | जैसा कि अंतरण दर या इंटरफ़ेस के लिए उपयोग किया जाता है, मेगाबाइट प्रति सेकंड (MB/s) = एक मिलियन बाइट प्रति सेकंड और गीगाबिट प्रति सेकंड (Gb/s) = प्रति सेकंड एक बिलियन बिट्स।
M.2 SSD
SSD VS HDD Speed
M.2 SSD

तेज प्रदर्शन और विश्वसनीयता के लिए आपके रोजमर्रा कि कंप्यूटिंग ज़रूरतों के लिए बढ़ाया भंडारण, डब्लूडी ग्रीन एसएसडी आपके डेस्कटॉप या लैपटॉप पीसी में हर रोज कंप्यूटिंग अनुभव को बढ़ाते हैं। रोजमर्रा कि कंप्यूटिंग के लिए बेहतर प्रदर्शन डब्ल्यूडी ग्रीन एसएटीए एसएसडी से प्रदर्शन को बढ़ावा देने के साथ, आप वेब ब्राउज़ कर सकते हैं, गेम खेल सकते हैं या बस एक फ़्लैश में अपना सिस्टम शुरू कर सकते हैं। और आकस्मिक धक्कों और बूंदों के मामले में आपके डेटा को नुकसान से सुरक्षित रखने में मदद करते हैं। कम शक्ति। अधिक खेल। SSD उद्योग में सबसे कम बिजली खपत करने वाले ड्राइव में से एक हैं और कम बिजली के इस्तेमाल से आपका लैपटॉप अधिक समय तक चलता है। एसएसडी 480 जीबी। ड्राइव। प्रदर्शन अधिकतम रीड ट्रांसफर दर: 545 MB / s ड्राइव इंटरफ़ेस: SATA. ड्राइव इंटरफ़ेस मानक: SATA / 600 पावर विवरण ऑपरेटिंग बिजली की खपत: 2.80 W फार्म फैक्टर: M.2 2280. ऊंचाई: 0.1"। चौड़ाई: 0.9"। गहराई: 3.1"। वजन (लगभग) : 0.23 आउंस। [विविध] समर्थित डिवाइस: डेस्कटॉप पीसी।
SSD drive की कमियां
आप जानते हो कि एसएसडी ड्राइव महंगी होती है जितने में 256 GB की SSD आती है इतने में तो 1TB की हार्ड डिस्क (HDD) आ जाती है यह एक नई टेक्नोलॉजी है शायद इसलिए महंगी है पर जैसे-जैसे SSD का चलन बढ़ेगा वैसे वैसे इसके दामों में भी गिरावट होगी
हमने आपको इस पोस्ट में SSD और HDD के बारे में पूरी जानकारी दे दी है अब आपको अपनी जरूरत के हिसाब से हार्ड डिक्स चुनाव करने में किसी भी प्रकार की दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा

No comments:

Post a comment

Please firends spam comment na kare. Post kesi lagi jarur bataye or friend do not forget share

Contact Form

Name

Email *

Message *