Friday, March 06, 2020

Computer RAM की पूरी जानकारी हिंदी में

 Computer RAM की पूरी जानकारी हिंदी में
RAM का पूरा नाम Random Access Memory होता हैं. इसे Main Memory और प्राथमिक मेमोरी भी कहते हैं. RAM में CPU द्वारा वर्तमान में किये जा रहे कार्यों का डाटा और निर्देश Store रहते हैं. यह मेमोरी CPU का भाग होती हैं. इसलिए इसका डाटा Direct Access किया जा सकता है.
RAM में डाटा और निर्देश Cells में Store रहता हैं. प्रत्येक Cell कुछ Raws एवं Columns से मिलकर बना होता हैं, जिसका अपना Unique Address होता हैं. इसे Cell Path भी कहते है. CPU इन Cells से अलग-अलग डाटा प्राप्त कर सकता हैं. और वो भी बिना Sequent के मतलब RAM में उपलब्ध डाटा को Randomly Access किया जा सकता हैं. शायद इसी विशेषता के कारण इस मेमोरी का नाम Random Access Memory रखा गया हैं.
RAM एक Volatile Memory होती हैं. इसलिए इसमे Store Data हमेशा के लिए स्टोर नही रहता है. जब तक RAM में Power Supply On रहती है. तब तक डाटा रहता हैं. Computer Shut Down होने पर RAM का सारा डाटा स्वत: डिलित हो जाता हैं.

RAM की विशेषताएँ

·         CPU का भाग होती हैं.
·         इसके बिना कम्प्युटर अपना काम नही कर सकता हैं.
·         कम्प्युटर की प्राथमिक मेमोरी होती हैं.
·         उपलब्ध डाटा Randomly Access कर सकते है.
·         अस्थायी मगर तेज होती हैं.
·         RAM मंहगी होती हैं.
·         Storage से भिन्न होती हैं.

RAM के विभिन्न प्रकार – Types of RAM in Hindi

Computer लगातार विकास कर रहा हैं. जिसके कारण इसके अन्य महत्वपूर्ण भागों को भी उन्नत होना पडा हैं. जिनमे RAM भी शामिल हैं. RAM भी विकास के कारण अलग-अलग कार्य विशेषताओं में उपलब्ध हुई हैं. जिन्हे दो प्रमुख प्रकार में बांट सकते हैं.
       1.   SRAM
       2.   DRAM


1. SRAM

SRAM का पूरा नाम Static Random Access Memory होता हैं. जिसमें शब्द Staticबताता हैं कि इस RAM में डाटा स्थिर रहता हैं. और उसे बार-बार Refresh करने की जरूरत नही पडती है.
SRAM भी Volatile Memory होती हैं. इसलिए Power On रहने तक इसमे डाटा मौजूद रहता हैं. Power Off होते ही सारा डाटा स्वत: डिलिट हो जाता हैं. इस मेमोरी को Cache Memory के रूप में इस्तेमाल किया जाता हैं.


2. DRAM

DRAM का पूरा नाम Dynamic Random Access Memory होता हैं. जिसमे शब्द Dynamicका मतलब होता हैं चलायमान. अर्थात हमेशा परिवर्तित होते रहना. इसलिए इस RAM को लगातार Refresh करना पडता हैं. तभी इसमें डाटा स्टोर किया जा सकता है.
CPU की मुख्य मेमोरी के रुप में DRAM का ही इस्तेमाल किया जाता हैं. क्योंकि इसमे से डाटा को Randomly प्राप्त किया जा सकता हैं. और इसमें नया डाटा अपने आप स्टोर होता रहता है. जिसके कारण CPU की कार्य क्षमता तेज बनी रहती है.
DRAM भी Volatile होती हैं. इसलिए इसमें भी डाटा Power Supply On रहने तक ही स्टोर रहता हैं. आजकल Computers, Smartphones, Tablets आदि उपकरणॉं में DRAM का ही इस्तेमाल किया जाता है. क्योंकि यह SRAM से सस्ती भी होती हैं.

   मेमोरी ECC ( ECC memory (Error Correcting Code Memory) 

जो कंप्यूटर हम लोग प्रयोग करते है, उसमे यदि कोई डाटा करप्ट हो जाए, या रीबूट हो जाये तो कोई विशेष फर्क नहीं पड़ता है | लेकिन Facebook, Drop box , Google के सर्वर का डाटा करप्ट हो जाए या सर्वर रीबूट हो जाए तो पूरी दुनिया ही परेशान हो जाएगी | यदि आप किसी cloud storage पर अपना डाटा स्टोर करते है तो- वह यह नहीं कहता है की आप डाटा स्टोर करो, लेकिन बाद में डाटा मिट जाता है या कुछ हो जाता है तो हमारी गारंटी नहीं है | इन सभी सर्वर पर जो भी डाटा स्टोर रहता है, चाहे कितना समय भी बीत जाए डाटा वैसे का वैसे ही रहता है,जैसा आपने इस पर स्टोर  किया है, और इसका कारण है 
ECC memory किसी भी डाटा  को एक्सीक्यूट करने से पहले उसे चेक करती है की वह जिस स्थिति में स्टोर हुआ था वह उसी स्थिति में है या नहीं, यदि data, store वाली स्थिति में होता है तभी यह उसे execute करती है, अन्यथा यदि डाटा स्टोर होने वाली स्थिति में नहीं है तो यह उसे correct करता है फिर उसे execute करता है, इतना ही नहीं यह ECC memory पूरे सिस्टम को reboot, data crash और hang होने से भी बचाता है|
अब प्रश्न यह है की जब ECC memory इतना बेहतर है तो क्या हम इसे अपने पर्सनल कंप्यूटर  में प्रयोग कर सकते है या नहीं? इसका जबाब है हाँ ,ECC memory को अपने कंप्यूटर  में भी इस्तेमाल कर सकते है,लेकिन यह बहुत ही महंगा होता है | जिस मदर बोर्ड  का प्रयोग हम अपने कंप्यूटर  में करते है यह उसमे सपोर्ट नहीं करता है | ECC memory के लिए मदर बोर्ड  भी अलग होता है, और काफी महंगा भी होता है | यदि हम अपने कंप्यूटर में इसका प्रयोग करे तो कंप्यूटर  की स्पीड कुछ कम हो जाएगी,क्योकि यह डाटा को स्टोर करते समय और एक्सीक्यूट करने से पहले उसे वेरीफाई करता है | यही कारण है की ECC memory का प्रयोग पर्सनल कंप्यूटर  में नहीं किया जाता है |

NOTE : ये मेमोरी केवल सर्वेरो में ही इस्तमाल होती है घरो में इस्तमाल होने वाले कम्पूटरो में ये मेमोरी इस्तमाल नहीं होती 


          


आपने क्या सीखा?

इस Lesson में हमने आपको Computer RAM की पूरी जानकारी उपलब्ध करवाई हैं. आपने जाना कि RAM क्या होती हैऔर RAM के विभिन्न प्रकारों से भी आप अवगत हुए है

1 comment:

Please firends spam comment na kare. Post kesi lagi jarur bataye or friend do not forget share

Contact Form

Name

Email *

Message *