Thursday, March 26, 2020

bootable pendrive


Bootable  pen drive


bootable pendrive,bootable pendrive software
bootable pen drive


Tips Hindi में आप का स्वागत है आज हम आप को इस पोस्ट में bootable pen drive और dvd के बारे में पुरी जानकारी देंगे! अगर आप को अपनी pen drive या dvd को bootable बनाना है! तो हमारी इस पोस्ट को जरुर पड़े!
हम सभी को कभी न कभी विंडोज इंस्टोल करने की जरुरत पड़ती ही है क्यों कि ज्मारी विंडोज किसी न किसी कारण से corrupte हो जाती है और अगर हम अपने कंप्यूटर में विंडोज install करने किसी shop पर जाते है तो वो 400रु से 500रु तक लेलेता है पर आज हम इस कम को आप के लिए इतना आसन बनादेंगे कि आप अपने ही घर पर विंडोज को install कर लेंगे!
दोस्तों हमारे दुवारा बताए गए इस मेथड’ से अपने घर पर ही bootable dvd या pen drive से विंडोज install कर लेंगे!
दोस्तों इसे पहले हमें यह जानना होगा कि bootable का मतलब क्या है और विंडोज हमेशा bootable मीडिया  pen drive या bootable dvd से ही क्यों इनस्टॉल होती है!
मीडिया का मतलब समान्य भाषा में communication सिस्टम है! लेकिन कंप्यूटर के बारे में बात करे तो वह माध्यम जिसमे डाटा स्टोर किया जाता है उदारण : usb pen drive, floppy.
अब bootable के बारे में बात करे तो जब हम अपना कंप्यूटर को स्टार्ट करते है! तो BIOS से लेकर कंप्यूटर डेस्कटॉप तक आने में बहुत सारी फाइल बैकग्राउंड में लोड होती है! यह फाइल्स ऑपरेटिंग सिस्टम को कंप्यूटर हार्डवेयर से communication करती है! ये अलग- अलग operating सिस्टम के लिए अलग अलग होती है!

windows 7/8/10 की बूट फाइल



bootable pendrive,bootable pendrive command
Boot Menu

1.WINLOAD.EXE  =  विंडोज इंटरफेस को लोड करता है!
2.WIN.COM       =    विंडोज vista/7 की कमांड फाइल्स है!
3.BOOT MGR     =    यह फाइल mbr में मिलती है! इससे ही विंडोज लोड होती है!
4.BDC( boot configuration data)  = टैक्स फाइल्स होती है जो हार्ड डिस्क में कितने operating system है ये चेक करती है और boot mgr को बताती है!

BOOTING PROCESS

bootprocess,bootcommand




जब आप अपना कंप्यूटर को पवार ओन करते है! ओन करने के बाद डेस्कटॉप आने तक बहुत सारे प्रोसेस होते है!
1.Power on self test ( POST)
2.Initial start up phase
3.Boot loader phase
4.Detect and configure hardware phase
5.Kernel loading phase
6.Log on phase
नोट: बूटिंग दो तरह कि होती है!
1.cold booting
2.warm booting

कोल्ड बूटिंग : जब कंप्यूटर को पावर स्विच के दुवारा ऑफ कर के ओन किया जाता है! तो इस booting को cold booting कहते है!

वार्म बूटिंग : जब चलते हुए कंप्यूटर को button से रिसेट  करे या ctrl+ alt+ del तीनो button को दबाकर रिसेट करते है तो वो booting warm booting खलती है!

नोट : अब में आप को कुछ इसे software के बारे में बताते है जिसकी मदत के आप अपनी पेन ड्राइव या dvd को आसानी से bootabl बना सकते हो! और आप इन्हें download बटन पर click कर के download कर सकते हो!
1.wintobootic software



wintobootic,bootable



wintobootic,bootable
wintobootic




click here



2.Power ISO software

power iso,bootable

power iso,bootable

power iso,bootable

power iso,bootable

power iso,bootable
power iso


                                            click here



rufus bootable,pendrive bootable
3.Rufus Software
    

rufus,bootable
rufus

click here

rufusbootable,pendrive bootable

   हेलो  दोस्तों  आज  में  आप के लिए इस पोस्ट को अपडेट कर रहा हू!
   अगर आप लोग इस्तमाल करते है windows 7/8/8.1/10 तो आप लोगो का ये पोस्ट पढ़ना  बहुत  ही जरुरी है       क्योकि मैं आप को ये बताऊँगा की आप लोग कैसे देख सकते है की आप की windows ओरिजनल है या           पैरिटेड!



windows,7/8/8.1/10
windows 7/8/8.1/10


  बस एक ही command  से आप अपनी  windows  को पहचान सकते है !

   Follow This  Steps


  1.  Win + R   Eenter 
  2. Type : slmgr. vbs  / dli   Enter 
         

No comments:

Post a comment

Please firends spam comment na kare. Post kesi lagi jarur bataye or friend do not forget share

Contact Form

Name

Email *

Message *